27 May, 2010

हिन्दी में 'प्रथम' कार्य

कहते हैं किसी नये काम को आरम्भ कर देना सबसे महान काम है, भले ही वह अतिलघु रूप में हो। आइये देखते हैं हिन्दी में 'प्रथम' कार्य किसने किया और वे कौन से कार्य थे -

* हिन्दी में प्रथम डी.लिट - डा. पीताम्बर दत्त बड़थ्वाल

* हिन्दी का प्रथम महाकवि -- चन्दबरदाई

* हिंदी का प्रथम महाकाव्य -- पृथ्वीराजरासो

* हिन्दी का पहला समाचार पत्र -- उदन्त मार्तण्ड (पं जुगलकिशोर शुक्ल )

* सबसे पहला हिन्दी-आन्दोलन : हिंदीभाषी प्रदेशों में सबसे पहले बिहार प्रदेश में सन् 1835 में हिंदी आंदोलन शुरू हुआ था। इस अनवरत प्रयास के फलस्वरूप सन् 1875 में बिहार में कचहरियों और स्कूलों में हिंदी प्रतिष्ठित हुई।

* समीक्षामूलक हिन्दी का प्रथम मासिक -- 'साहित्य संदेश' ( आगरा, सन् 1936 से 1942 तक)

* हिन्दी का प्रथम आत्मचरित - अर्द्ध कथानक ( कृतिकार हैं - जैन कवि बनारसीदास (वि.सं. १६४३-१७००))

* हिन्दी का प्रथम व्याकरण - 'उक्ति-व्यक्ति-प्रकरण' (दामोदर पंडित)

* हिन्दी व्याकरण के पाणिनी -- किशोरीदास वाजपेयी

* हिन्दी का प्रथम मानक शब्दकोश -- हिंदी शब्दसागर

* हिन्दी का प्रथम विश्वकोश -- हिन्दी विश्वकोश

* हिन्दी का प्रथम कवि - राहुल सांकृत्यायन की 'हिन्दी काव्यधारा' के अनुसार हिन्दी के सबसे पहले मुसलमान कवि अमीर खुसरो नहीं, बल्कि अब्दुर्हमान हुए हैं। ये मुलतान के निवासी और जाति के जुलाहे थे। इनका समय १०१० ई० है। इनकी कविताएँ अपभ्रंश में हैं। -(संस्कृति के चार अध्याय, रामधारी सिंह दिनकर, पृष्ठ ४३१ )

* हिन्दी की प्रथम कहानी - हिंदी की सर्वप्रथम कहानी कौनसी है, इस विषय में विद्वानों में जो मतभेद शुरू हुआ था वह आज भी जैसे का तैसा बना हुआ है। हिंदी की सर्वप्रथम कहानी समझी जाने वाली कड़ी के अर्न्तगत सैयद इंशाअल्लाह खाँ की 'रानी केतकी की कहानी' (सन् 1803 या सन् 1808 ), राजा शिवप्रसाद सितारे हिंद की 'राजा भोज का सपना' (19 वीं सदी का उत्तरार्द्ध), किशोरी लाल गोस्वामी की 'इन्दुमती' (सन् 1900), माधवराव सप्रे की 'एक टोकरी भर मिट्टी' (सन् 1901), आचार्य रामचंद्र शुक्ल की 'ग्यारह वर्ष का समय' (सन् 1903) और बंग महिला की 'दुलाई वाली' (सन् 1907) नामक कहानियाँ आती हैं।

* हिन्दी का प्रथम उपन्यास -- 'देवरानी जेठानी की कहानी' (लेखक - पंडित गौरीदत्त ; सन् १८७०) । श्रद्धाराम फिल्लौरी की 'भाग्यवती' और लाला श्रीनिवास दास की 'परीक्षा गुरू' को भी हिन्दी के प्रथम उपन्यस होने का श्रेय दिया जाता है।

* हिंदी का प्रथम विज्ञान गल्प -- ‘आश्चर्यवृत्तांत’ (अंबिका दत्त व्यास ; 1884-1888)

* हिंदी का प्रथम नाटक -- नहुष (गोपालचंद्र , १८४१)

* हिंदी का प्रथम काव्य-नाटक -- ‘एक घूँट’ (जयशंकर प्रसाद ; 1915 ई.)

* हिन्दी साहित्य का प्रथम इतिहास - भक्तमाल / 'इस्त्वार द ल लितरेत्यूर ऐन्दूई ऐन्दूस्तानी' (अर्थात "हिन्दुई और हिन्दुस्तानी साहित्य का इतिहास", लेखक गार्सा-द-तासी )

* हिन्दी कविता के प्रथम इतिहासग्रन्थ के रचयिता -- शिवसिंह सेंगर ; रचना - 'शिवसिंह सरोज'

* हिन्दी साहित्य का प्रथम व्यवस्थित इतिहासकार -- आचार्य रामचंद्र शुक्ल

* हिन्दी में अपना शोधपत्र लिखने वाला प्रथम शोधार्थी --

* हिन्दी में संयुक्त राष्ट्र संघ में भाषण देने वाला प्रथम राजनयिक -- अटल बिहारी वाजपेयी

* हिन्दी का प्रथम चलचित्र (मूवी) -- 'सत्य हरिश्चन्द्र'

* हिन्दी की पहली बोलती फिल्म (टाकी) -- 'आलम आरा'

* हिन्दी का अध्यापन आरम्भ करने वाला प्रथम विश्वविद्यालय - कोलकाता विश्वविद्यालय (फोर्ट विलियम् कॉलेज)

* हिन्दी का प्रथम चिट्ठा (ब्लॉग) - "हिन्दी" चिट्ठे 2002 अकटूबर में विनय और आलोक ने हिन्दी (इस में अंग्रेज़ी लेख भी लिखे जाते हैं) लेख लिखने शुरू करे, 21 अप्रेल 2003 में सिर्फ हिन्दी का प्रथम चिट्ठा बना "नौ दो ग्यारह", जो अब यहाँ है (संगणकों के हिन्दीकरण से सम्बन्धित बंगलोर निवासी आलोक का चिट्ठा)

* हिन्दी का प्रथम चिट्ठा-संकलक -- चिट्ठाविश्व (सन् २००४ के आरम्भ में बनाया गया था)

* अन्तरजाल पर हिन्दी का प्रथम समाचारपत्र - हिन्दी मिलाप / वेबदुनिया

* हिन्दी का पहला समान्तर कोश बनाने का श्रेय -- अरविन्द कुमार व उनकी पत्नी कुसुम

* हिन्दी का पहला इंजीनियर कवि - मदन वात्स्यायन

* हिन्दी साहित्य का प्रथम राष्ट्रगीत के रचयिता -- पं. गिरिधर शर्मा ’नवरत्न‘

* सेंट्रल लेजिस्लेटिव असेंबली में हिन्दी के प्रथम वक्ता -- नारायण प्रसाद सिंह (सारण - दरभंगा ; 1926)

* हिंदी का प्रथम अर्थशास्त्रीय ग्रंथ -- "संपत्तिशास्त्र" (महावीर प्रसाद द्विवेदी)

* हिन्दी के प्रथम बालसाहित्यकार -- जयप्रकाश भारती

* हिन्दी की प्रथम वैज्ञानिक पत्रिका -- विज्ञान

* सबसे पहली टाइप-आधारित देवनागरी प्रिंटिंग : 1796 में गिलक्रिस्त (John Borthwick Gilchrist) की Grammar of the Hindoostanee Language, Calcutta ; Dick Plukker

* खड़ीबोली के गद्य की प्रथम पुस्तक -- लल्लू लाल जी की 'प्रेम सागर' (हिन्दी में भागवत का दशम् स्कन्ध) ; हिन्दी गद्य साहित्य का सूत्रपात करनेवाले चार महानुभाव कहे जाते हैं मुंशी सदासुख लाल, इंशा अल्ला खाँ, लल्लू लाल और सदल मिश्र। ये चारों सं. 1860 के आसपास वर्तमान थे।

* हिन्दी की प्रथम् विज्ञान-विषयक पुस्तक - महेन्द्र भट्टाचार्य द्वारा सन् 1873 में रचित 'पदार्थ विज्ञान'

* 'एशिया का जागरण' विषय पर हिन्दी कविता - सन् 1901 में राधाकृष्ण मित्र ने हिन्दी में एशिया के जागरण पर एक कविता लिखी थी। शायद वह किसी भी भाषा में 'एशिया के जागरण' की कल्पना पर पहली कविता है।



उपर्युक्त में कोई त्रुटि हो तो कृपया बताएँ। इसके अलावा, इन पर भी अपनी राय बताइये-

* हिन्दी में निर्णय देने वाला पहला न्यायधीश --
* हिन्दी का प्रथम प्रचारक --
* हिन्दी का प्रथम ज्ञानपीठ विजेता --
* हिन्दी का प्रथम शब्दकोश --
* हिन्दी का प्रथम काव्य --
* हिन्दी का प्रथम लघुकथाकार --

7 comments:

Raviratlami said...

कृपया पृष्ठभूमि हल्के रंग की रखें ताकि पाठकों को पढ़ने में आसानी हो.

ePandit said...

बहुत ही अच्छी जानकारियाँ संकलित की आपने। इस सूची को समय-समय पर अद्यतन करते रहें।

honesty project democracy said...

सही कहा आपने अच्छे काम का शुरुआत होना भी महत्व रखता है /

योगी said...

अनुनादजी, ’प्रथम’ संबंधी विस्तॄत जानकारी संकलित की है आपने । बधाई है । - योगेन्द्र जोशी

सोनू said...

हिन्दी का प्रथम ज्ञानपीठ विजेता -- सुमित्रानंदन पंत (१९६८)। यह ज्ञानपीठ पुरस्कार का चौथा साल था। देखें।

Anonymous said...

हिंदी का प्रथम ज्ञानपीठ विजेता -- सुमित्रानंदन पंत (१९६८)

Shyam Karan said...

* हिन्दी में निर्णय देने वाला पहला न्यायधीश --- nyaymurti prem shankar